Sad Shayari

426+ बेवफा शायरी इन हिंदी | Bewafa Shayari In Hindi

dhoka bewafa shayari – dard bhari bewafa shayari

मेरी तलाश का है जुर्म
या मेरी वफा का क़सूर,
जो दिल के करीब आया
वही बेवफा निकला।

आज तुम्हारी याद ने मुझे रुला दिया,
क्या करूँ तुमने जो मुझे भुला दिया,
न करते वफ़ा न मिलती ये सजा,
मेरी वफ़ा ने तुझे बेवफा बना दिया।

बेवफा सनम शायरी – sad dard bewafa shayari

वफ़ा पर हमने घर लुटाना था लेकिन,
वफ़ा लौट गयी लुटाने से पहले,
चिराग तमन्ना का जला तो दिया था,
मगर बुझ गया जगमगाने से पहले।

वो बेवफा हर बात पे देता है परिंदों की मिसाल,
साफ साफ नहीं कहता मेरा शहर छोड़ दो।

Sad Pyar Bewafa Shayari in Hindi

छोड़ गए हमको वो अकेले ही राहों में,
चल दिए रहने वो औरों की पनाहों में,
शायद मेरी चाहत उन्हें रास नहीं आई,
तभी तो सिमट गए वो गैर की बाहों में।

ये बेवफा, वफा की कीमत क्या जाने
ये बेवफा गम-ए-मोहब्बत क्या जाने
जिन्हे मिलता है हर मोड पर नया हमसफर !
वो भला प्यार की कीमत क्या जाने

Latest Bewafa Shayari Hindi font – दर्द-ए-दिल बेवफा शायरी

अगर मोहब्बत की तिजारत का इतना शौक है
तो ये बात भी जान लो दोस्तों
यहाँ वफ़ा का कोई मोल नहीं होता
और बेवफाई बहुत अनमोल होता है

दिल के दरिया मे धड़कन की कश्ती है,
ख्वाबो की दुनिया मे यादो की बस्ती है,
मोहब्बत के बाज़ार मे चाहत का सौदा,
वफ़ा की कीमत से तो बेवफ़ाई सस्ती है!!

दर्द भरी Sad Shayari in Hindi Image – Bewafa Shayari DP Download

इस तरह हम उनसे वफ़ा कर बैठे
की वो हमारी बेवफाई को सह भी न पाये
वो रोये हमसे लिपटकर किसी और के लिए
और हम उन्हें चुप करा भी न पाये

बेवफायी का मौसम भी
अब यहाँ आने लगे है,
वो फिर से किसी और को
देख कर मुस्कुराने लगे है।

Bewafa Shayari in Hindi Download For Whatsapp Fb

प्यार करने का हुनर हमें आता नहीं
इसीलिए हम प्यार की बाज़ी हार गए
हमारी ज़िन्दगी से उन्हें बहुत प्यार था
शायद इसीलिए वो हमें ज़िंदा ही मार गए!

दर्द दे गयी, तड़प दे गयी,
जाते जाते गम जुदाई का दे गयी,
साथ देना तेरे बस में नहीं था तो बेवफा
फिर मुझे क्यों ये रुस्वाई दे गयी

बेवफा शायरी इन हिंदी

कहते है हर बात जुबां से हम इशारा नहीं करते,
आसमान पर चलने वाले जमीं से गुज़ारा नहीं करते,
हर हालात को बदलने की हिम्मत है हम में,
वक़्त का हर फैसला हम गंवारा नहीं करते

मेरे कलम से लफ्ज़ खो गए शायद
आज वो भी बेवफा हो गाए शायद
जब नींद खुली तो पलकों में पानी था
मेरे ख्वाब मुझ पे रो गाए शायद

Previous page 1 2 3 4 5 6 7 8Next page

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button